Breaking News

एजुकेट गर्ल्स संस्था और राजस्थान शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित REI SUMMIT 2022 में शिक्षा क्षेत्र में नवाचार की जरूरत पर हुई सहमति

Ananya Kumari | Nation1 Voice

Updated on : June 03, 2022
10361


एजुकेट गर्ल्स संस्था और राजस्थान शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित REI SUMMIT 2022 में शिक्षा क्षेत्र में नवाचार की जरूरत पर हुई सहमति


बांसवाड़ा - राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद और ग़ैर-लाभकारी संस्था एजुकेट गर्ल्स द्वारा आरईआई समिट 2022 (REI SUMMIT 2022) का आयोजन किया गया था। समिट का आयोजन बालिका शिक्षा की वर्तमान स्थिति, बालिका शिक्षा के क्षेत्र में सामाजिक संस्था की भूमिका और देश के विकास में बालिकाओं का योगदान जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर सरकार और संस्थाओं की भूमिका जानने के लिए किया गया था। समारोह में 29 संस्थाओं ने सहभाग लिया है। आरईआई समिट 2022 (REI SUMMIT 2022) में संस्थाओं ने शिक्षा क्षेत्र में मौजूदा उपलब्धियों पर चर्चा की साथ ही जमीनी स्तर पर आने वाली मुश्किलों, कोविड के बाद शिक्षा क्षेत्र की स्थिति, प्रौद्योगिकी और शिक्षा जैसे जरुरी विषयों पर शिक्षा विभाग के साथ विचार साझा किए गए। शिक्षा क्षेत्र में नवाचार की जरूरत पर सभी सहयोगियों ने सहमति दर्शायी। समारोह में राजस्थान सरकार के वरिष्ठ मंत्री, शिक्षा विभाग के अधिकारी, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि और एजुकेट गर्ल्स संस्था के पदाधिकारी उपस्थित रहे। राजस्थान के शिक्षा मंत्री श्री बीडी कल्ला ने बताया, "बालिकाओं को हर क्षेत्र में स्वावलंबी बनाने के लिए प्रोत्साहित करना जरूरी है, बालिकाओं में हर क्षेत्र में काम करने की क्षमता है। संस्था के साथ मिलकर हमें शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नई पहल लेकर आना चाहिए जिससे हमारी आनेवाली पीढ़ियों को ओर भी बहतर बन सकें एजुकेट गर्ल्स के सीओओ श्री महर्षि वैष्णव ने अपने संदेश में कहा, "एजुकेट गर्ल्स संस्था के सफर की शुरुआत 2007 में पाली जिले से हुई थी। 15 साल में 600 से ज्यादा कर्मचारी ओर 7000 ज्यादा टीम बालिका राजस्थान सरकार के साथ मिलकर बालिका शिक्षा के लिए कार्य कर रहे हैं। इन 15 सालों में हमें राज्य सरकार का सहयोग एवं मार्गदर्शन मिला इसलिए हम बालिका शिक्षा के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे है।" एजुकेट गर्ल्स संस्था के राजस्थान स्टेट लीड श्री ब्रजेश कुमार सिन्हा ने बताया, "बालिका शिक्षा के क्षेत्र हम सभी को एक साथ कार्य करना जरूरी है। शिक्षा विभाग के साथ मिलकर हमें बालिका शिक्षा क्षेत्र में अभिनव पहल शुरूकरनी चाहिए जिस के माध्यम से हम महिला सशक्तिकरण की तरफ बढ़ सके। एजुकेट गर्ल्स राजस्थान के शिक्षा विभाग के साथ अनेक वर्षों से इस क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रही है।" वर्तमान में एजुकेट गर्ल्स संस्था राजस्थान के 9 जिलों में काम कर रही है। फील्ड ऑपरेशन हेड श्री विक्रम सिंह ने संस्था द्वारा किये जाने वाले कार्यों की जानकारी दी और आगामी योजनाओं के बारे में बताया। इस बैठक में राजस्थान सरकार के साथ काम करने वाली सभी गैर सरकारी संस्थाओं, शिक्षा विभाग के सभी जिलों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। राजस्थान के शिक्षा मंत्री श्री. बीडी कल्ला, शिक्षा राज्य मंत्री श्रीमती जाहिदा खान, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पवन गोयल, निदेशक माध्यमिक एवं प्राथमिक शिक्षा श्री गोरव गोयल, राजस्थान राज्य परियोजना निदेशक सना सिद्धकी, डिप्टी कमिश्नर बालिका शिक्षा देवयानी, समग्र शिक्षा राज्य परियोजना निदेशक डॉ. मोहन लाल यादव और राजस्थान राज्य के समस्त संभाग एवं जिला अधिकारी समारोह में उपस्थित थे।
बांसवाड़ा - राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद और ग़ैर-लाभकारी संस्था एजुकेट गर्ल्स द्वारा आरईआई समिट 2022 (REI SUMMIT 2022) का आयोजन किया गया था। समिट का आयोजन बालिका शिक्षा की वर्तमान स्थिति, बालिका शिक्षा के क्षेत्र में सामाजिक संस्था की भूमिका और देश के विकास में बालिकाओं का योगदान जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर सरकार और संस्थाओं की भूमिका जानने के लिए किया गया था। समारोह में 29 संस्थाओं ने सहभाग लिया है। आरईआई समिट 2022 (REI SUMMIT 2022) में संस्थाओं ने शिक्षा क्षेत्र में मौजूदा उपलब्धियों पर चर्चा की साथ ही जमीनी स्तर पर आने वाली मुश्किलों, कोविड के बाद शिक्षा क्षेत्र की स्थिति, प्रौद्योगिकी और शिक्षा जैसे जरुरी विषयों पर शिक्षा विभाग के साथ विचार साझा किए गए। शिक्षा क्षेत्र में नवाचार की जरूरत पर सभी सहयोगियों ने सहमति दर्शायी। समारोह में राजस्थान सरकार के वरिष्ठ मंत्री, शिक्षा विभाग के अधिकारी, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि और एजुकेट गर्ल्स संस्था के पदाधिकारी उपस्थित रहे। राजस्थान के शिक्षा मंत्री श्री बीडी कल्ला ने बताया, "बालिकाओं को हर क्षेत्र में स्वावलंबी बनाने के लिए प्रोत्साहित करना जरूरी है, बालिकाओं में हर क्षेत्र में काम करने की क्षमता है। संस्था के साथ मिलकर हमें शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नई पहल लेकर आना चाहिए जिससे हमारी आनेवाली पीढ़ियों को ओर भी बहतर बन सकें एजुकेट गर्ल्स के सीओओ श्री महर्षि वैष्णव ने अपने संदेश में कहा, "एजुकेट गर्ल्स संस्था के सफर की शुरुआत 2007 में पाली जिले से हुई थी। 15 साल में 600 से ज्यादा कर्मचारी ओर 7000 ज्यादा टीम बालिका राजस्थान सरकार के साथ मिलकर बालिका शिक्षा के लिए कार्य कर रहे हैं। इन 15 सालों में हमें राज्य सरकार का सहयोग एवं मार्गदर्शन मिला इसलिए हम बालिका शिक्षा के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे है।" एजुकेट गर्ल्स संस्था के राजस्थान स्टेट लीड श्री ब्रजेश कुमार सिन्हा ने बताया, "बालिका शिक्षा के क्षेत्र हम सभी को एक साथ कार्य करना जरूरी है। शिक्षा विभाग के साथ मिलकर हमें बालिका शिक्षा क्षेत्र में अभिनव पहल शुरूकरनी चाहिए जिस के माध्यम से हम महिला सशक्तिकरण की तरफ बढ़ सके। एजुकेट गर्ल्स राजस्थान के शिक्षा विभाग के साथ अनेक वर्षों से इस क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रही है।" वर्तमान में एजुकेट गर्ल्स संस्था राजस्थान के 9 जिलों में काम कर रही है। फील्ड ऑपरेशन हेड श्री विक्रम सिंह ने संस्था द्वारा किये जाने वाले कार्यों की जानकारी दी और आगामी योजनाओं के बारे में बताया। इस बैठक में राजस्थान सरकार के साथ काम करने वाली सभी गैर सरकारी संस्थाओं, शिक्षा विभाग के सभी जिलों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। राजस्थान के शिक्षा मंत्री श्री. बीडी कल्ला, शिक्षा राज्य मंत्री श्रीमती जाहिदा खान, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पवन गोयल, निदेशक माध्यमिक एवं प्राथमिक शिक्षा श्री गोरव गोयल, राजस्थान राज्य परियोजना निदेशक सना सिद्धकी, डिप्टी कमिश्नर बालिका शिक्षा देवयानी, समग्र शिक्षा राज्य परियोजना निदेशक डॉ. मोहन लाल यादव और राजस्थान राज्य के समस्त संभाग एवं जिला अधिकारी समारोह में उपस्थित थे।


leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...

फेसबुक पर लाइक करें

ट्विटर पर फॉलो करें


अन्य सभी ख़बरें पढ़ें...

मनोरंजन सभी ख़बरें पढ़ें...

खेल-जगत सभी ख़बरें पढ़ें...

व्यापार सभी ख़बरें पढ़ें...