ब्रीक्स में मोदी ने आपसी व्यापार और निवेश बढ़ाने पर दिया ज़ोर

Garima Bharti | Nation1 Voice

Updated on : November 14, 2019


ब्रीक्स में मोदी ने आपसी व्यापार और निवेश बढ़ाने पर दिया ज़ोर


वर्ल्ड,डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए ब्राजील में हैं। ब्राजील की राजधानी ब्रासिलिया के इटामारती पैलेस में चल रहे कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने सदस्य देशों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार और निवेश पर ध्यान देने की जरूरत है। 

पीएम मोदी ने कहा कि ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार वैश्विक कारोबार का सिर्फ 15 फीसदी ही है। इसमें बढ़ोतरी की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा, 'हमने हाल ही में 'फिट इंडिया मूवमेंट' शुरू किया है। मैं फिटनेस और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में वृद्धि के लिए ब्रिक्स राष्ट्रों के बीच संचार और आदान-प्रदान चाहता हूं।'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आतंकवाद, आतंकी फंडिंग, ड्रग्स तस्करी और संगठित अपराध ने आशंकाओं का माहौल तैयार कर दिया है। इसकी वजह से व्यापार और कारोबार को नुकसान पहुंच रहा है। उन्होंने कहा, 'मुझे खुशी है कि आतंकवाद से निपटने के लिए ब्रिक्स की रणनीति पर सेमीनार आयोजित किया गया।'

इससे पहले पीएम मोदी ने ब्रिक्स देशों से कहा कि भारत में निवेश करने की असीम संभावनाएं हैं। उन्होंने भारत को दुनिया की सबसे खुली एवं निवेश के लिए अनुकूल अर्थव्यवस्था बताते हुए ब्रिक्स देशों की कंपनियों और कारोबारियों से भारत में निवेश करने और वहां मौजूद असीम संभावनाओं तथा अनगिनत अवसरों का लाभ उठाने का आग्रह किया।

पीएम मोदी ब्रिक्स बिजनेस फोरम के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि व्यापार अनुकूल सुधारों, नीतियों, राजनीतिक स्थिरता की वजह से भारत विश्व की सबसे मुक्त और निवेश के लिए माकूल अर्थव्यवस्था है।

मोदी ने कहा कि भारत को 2024 तक पांच ट्रिलियन डॉलर वाली अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य है और इसके लिए आधारभूत ढांचा क्षेत्र में अकेले 1.5 ट्रिलियन डॉलर के निवेश की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वह ब्रिक्स देशों की इकाइयों से भारत में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने और उसे बढ़ाने का आग्रह करते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्व की आर्थिक वृद्धि में ब्रिक्स देशों का हिस्सा 50 प्रतिशत है। बिक्स देशों की इकाइयों के बीच कारोबार को सरल बनाने से आपसी व्यापार और निवेश और बढ़ेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह यह भी अनुरोध करना चाहेंगे कि अगले दस सालों के लिए हमारे बीच कारोबार में प्राथमिकता वाले क्षेत्रों की पहचान की जाए और उनके आधार पर ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग की रूपरेखा तैयार की जाए।



leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...

फेसबुक पर लाइक करें

ट्विटर पर फॉलो करें


मनोरंजन सभी ख़बरें पढ़ें...

खेल-जगत सभी ख़बरें पढ़ें...

व्यापार सभी ख़बरें पढ़ें...